Thursday, October 11, 2007

ब्लॉगर नीलिमा जी से मुलाक़ात

कल भयंकर वाली ब्लॉगर नीलिमा जी से मिला ,ब्लोग के बारे मे जाना, पूछा, कापी राईट के संकट पे लगभग हम दोनो ही सहमत थे कि रचनात्मक रचनाएं जैसे कविता ,कहानी, ग़ज़ल चोरी हो सकती हैं , उनका दुरूपयोग भी संभव है,इसका कोई ना कोई समाधान निकलना ही चाहिऐ, मैं तो खैर नया ब्लॉगर , आप सब से गुजारिश है इस मुद्दे पे बात होनी चाहिऐ और खुल कर हो जिस से ब्लोग्स की दुनिया की खूबसूरती बढ़े ,उस पर कोई दाग ना नुमायां हो

2 comments:

अनूप शुक्ल said...

लिखना शुरू करने की बधाई! लिखते रहिये।

ranjita said...

aapka blog bahut hi mast hai.